उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
West bengal exit polls 2019
West bengal exit polls 2019|google
इलेक्शन बुलेटिन

एग्जिट पोल कर रहे हैं दावा, इस बार बंगाल में बहेगी बदलाव की लहर 

लोकसभा चुनाव 2019 में इस बार हर किसी की निगाहें पश्चिम बंगाल पर टिकीं हैं, क्योंकि दिल्ली का रास्ता पश्चिम बंगाल से होकर गुजरता है। 

Puja Kumari

Puja Kumari

लोकसभा चुनाव 2019 (Loksabha election 2019) का आखिरी चरण कल समाप्त हो गया व इसके संपन्न होते ही एग्जिट पोल आने शुरू हो गए। पर इस बार लोगों की नजर पश्चिम बंगाल की सत्ता पर ज्यादा टिकी हुई है। जी हां क्योंकि सातवें व आखिरी चरण के कुछ ही दिन पहले पश्चिम बंगाल में हिंसा का माहौल देखने को मिला था जिसकी वजह से राजनीतिक सलाहकारों का कहना था कि चुनाव के आखिरी चरण पर इसका असर भी गहरा पड़ने वाला है।

हुआ भी कुछ ऐसा ही दरअसल तमाम न्यूज सोर्स द्वारा सामने आए एग्ज़िट पोल (Exit Polls 2019) को देखकर यही साबित हो रहा है कि इस बार बंगाल में बदलाव की लहर देखने को मिलेगी। जी हां राष्ट्रीय से लेकर स्थानीय चैनल सभी बंगाल में भाजपा की कामयाबी का दावा कर रहे हैं। हालांकि कई बार ऐसा भी हुआ है कि एग्जिट पोल (Exit Polls 2019) गलत साबित हुए हैं पर अगर ये जरा-सा भी सही साबित हुए तो सवाल ये खड़ा होता है कि आखिर ऐसा कैसे हो गया ?

पश्चिम बंगाल एक सत्तारूढ़ राज्य है जहां अब इन एग्जिट पोल (Exit Polls 2019) से यही साबित हो रहा है कि इस बार बंगाल की लहर टीएमसी (TMC) के ख़िलाफ़ है या फिर भाजपा (BJP)के पक्ष में है।

इन अनुमानित नतीजों से बौखलाई टीएमसी अध्यक्ष ममता बनर्जी (Mamta banerjee) जो कि लगातार भाजपा पर प्रहार करते आ रही हैं, एक बार फिर कहा कि "मैं एग्ज़िट पोल की अफ़वाह पर भरोसा नहीं करती. इतना ही नहीं उन्होने ये भी कहा है कि इस अफ़वाह के ज़रिए हज़ारों ईवीएम बदलने या उनमें घपला करने की योजना भाजपाईयों ने बनाई है। मैं तमाम विपक्षी राजनीतिक दलों से एकजुट, मज़बूत और साहसिक होने की अपील करती हूं। हमें साथ मिल कर यह लड़ाई लड़नी है।"

West bengal exit polls 2019
West bengal exit polls 2019
Google

ममता के इस बयान से तो यही साफ होता है कि वो ये मानकर चल रही कि अगर आखिरी परिणाम उनके खिलाफ आते हैं तो वो फिर से ईवीएम का मुद्दा उठाएंगी और इस बार अपने साथ साथ अन्य विपक्षी पार्टियों से भी यही अनुरोध कर रही।

जानें किसके अनुसार किस पार्टी को मिली कितनी सीट

इंडिया टुडे के अनुसार

यहां बीजेपी के खाते में 19 से 23 सीट जा सकती है, तो वहीं कांग्रेस को यहां 1 सीट मिल सकती है और टीएमसी को 19 से 22 के बीच सीट मिलने के आसार है।

टाइम्स नाउ- वीएमआर, के अनुसार

बंगाल में भाजपा के खाते में 11 सीटे हैं, जबकि कांग्रेस को यहां 2 सीट और टीएमसी को 29 के बीच सीट मिली है।

एबीपी- नेल्सन, के अनुसार

एबीपी के आंकड़े कहते हैं कि बंगाल में भाजपा के खाते में 16 सीट , कांग्रेस को 2 सीट तो वहीं टीएमसी को 24 के बीच सीट मिल सकती है।

इंडिया टीवी- सीएनएक्स, के अनुसार

इंडिया टीवी का दावा है कि बीजेपी के खाते में 12 सीट तो वहीं कांग्रेस को यहां 1 सीट और टीएमसी को 29 के बीच सीट मिल सकती है।

West bengal exit polls 2019
West bengal exit polls 2019
Google

न्यूज एक्स- नेता, के अनुसार

यहां भाजपा के खाते में 11 सीट जा सकती है तो कांग्रेस को 2 सीट और टीएमसी को 29 के बीच सीट मिल सकती है।

रिपब्लिक टीवी-जन की बात, के अनुसार

भाजपा को यहां 18 से 26 सीट , कांग्रेस को 13 से 21 सीट तो टीएमसी को 3 के बीच सीट मिल सकती है।

न्यूज-24 के अनुसार

भाजपा के हिस्से में यहां 18 सीट है तो कांग्रेस को सिर्फ 1 सीट, व तृणमूल कांग्रेस को 23 सीट मिलने के आसार हैं।

न्यूज स्टेट के अनुसार

भाजपा के खाते में 10-12 सीट जा सकती है यानी भाजपा को यहां फायदा हो रहा है, वहीं कांग्रेस को यहां 2 से 4 सीट मिल सकती है। तो टीएमसी को 26-28 के बीच सीट मिल सकती है इसलिए ममता बनर्जी को यहां सीटों का नुकसान होता हुआ दिखाई दे रहा है।