उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
पीएम मोदी आचार संहिता 
पीएम मोदी आचार संहिता |google
इलेक्शन बुलेटिन

चुनाव आयोग में कब-कब दर्ज हुई है पीएम मोदी के खिलाफ शिकायत, जानिए पूरा ब्यौरा

पीएम मोदी पर आचार संहिता के उल्लंघन का आरोप

Puja Kumari

Puja Kumari

जहां एक तरफ देशभर में लोकसभा चुनाव 2019 का बिगुल बजा, वहीं इसके साथ ही आचार संहिता भी लागू हो गया। ऐसा पहली बार नहीं बल्कि हर बार होता है क्योंकि हमारे देश की व्यवस्था लोकतांत्रिक है और इसी को ध्यान में रखकर आचार संहिता के नियमों का पालन किया जाता है। निर्वाचन आयोग की ये जिम्मेदारी होती है कि वो इस बात का ध्यान रखे कि चुनाव खत्म होने तक हर पार्टी, उम्मीदवारों के साथ-साथ जनता भी इनका पालन करें।

यदि कोई उम्मीदवार इन नियमों का पालन नहीं करता है तो चुनाव आयोग उसके खिलाफ कार्रवाई कर सकता है। इतना ही नहीं इसके अलावा वो उस व्यक्ति को चुनाव लड़ने से भी रोक सकता है और उसके खिलाफ एफआईआर भी दर्ज की जा सकती है।

कुछ ऐसा ही हुआ है इस चुनावी माहौल में, बता दें कि भाजपा पार्टी पर कई बार आचार संहिता के उल्लंघन का आरोप लगते आ रहा है जिसका जवाब भी निर्वाचन आयोग ने पार्टी से मांगा था। दरअसल मसला ये था कि 1 अप्रैल को पीएम मोदी ने वर्धा में जो भाषण दिया था उसके खिलाफ शिकायत दर्ज हुई थी जिसके बाद निर्वाचन आयोग ने इसकी विस्तृत रूप से जांच की और फिर फैसला सुनाया कि प्रधानमंत्री ने आदर्श आचार संहिता का कोई उल्लंघन नहीं किया है।

बताते चलें कि पीएम मोदी ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए भगवा आतंकवाद के साथ साथ कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के केरल के वायनाड से चुनाव लड़ने का मुद्दा भी उठाया था। भले ही इस मामले में पीएम मोदी को क्लीन चीट मिल गई है लेकिन इससे पहले भी कई बार पीएम मोदी के खिलाफ चुनाव आयोग में शिकायत की गई है।

आइए जानें कब-कब की गई पीएम मोदी के खिलाफ शिकायत ?

इसके अलावा 6 अप्रैल 2019 को भी पीएम मोदी ने महाराष्ट्र के नांदेड़ में दिये गए भाषण में वायनाड सीट की चर्चा करते हुए वर्धा वाले शब्दों को ही दोहराया था जिसे लेकर उनके खिलाफ शिकायत दर्ज की गई थी।

इसके बाद 9 अप्रैल को भी पीएम मोदी ने पहली बार मतदाताओं से बालाकोट एयर स्ट्राइक व पुलवामा हमले में शहीद हुए जवानों के नाम पर वोट देने की अपील की थी। उन्होने अपने भाषण में कहा था कि मैं पहली बार अपने मतदाताओं से पूछना चाहता हूं कि क्या आपके जीवन का पहला वोट पाकिस्तान के बालाकोट में एयर स्ट्राइक करने वाले वीर जवानों को समर्पित हो सकता है, क्या आपका पहला वोट पुलवामा में जो वीर शहीद हुए हैं उन वीर शहीदों के नाम समर्पित हो सकता है?

पीएम मोदी आचार संहिता 
पीएम मोदी आचार संहिता 
google 

इसके अलावा 21 अप्रैल को भी गुजरात के पाटन में पीएम मोदी ने कहा था कि "ख़बरदार पाकिस्तान, हमारे पायलट को एक खरोंच नहीं पड़नी चाहिए। इतना ही नहीं इसके साथ ही उन्होंने एयर स्ट्राइक और सर्जिकल स्ट्राइक का भी ज़िक्र किया और एक बार फिर से सेना के नाम पर वोट मांगने की कोशिश की, जिसकी शिकायत भी की गई।

ये भी बता दें कि पीएम मोदी ने इसी दिन राजस्थान के बाड़मेर में पाकिस्तान को चेतावनी देते हुए कहा था कि भारत के परमाणु हथियार हमने दिवाली के लिए नहीं रखा है। जी हां उन्होंने भाषण में कहा कि, "पाकिस्तान कहता था कि हमारे पास न्यूक्लियर बटन है. तो हमारे पास क्या है, ये दिवाली के लिए रखा है क्या?"

इन सभी बातों को लेकर पीएम मोदी के खिलाफ शिकायत दर्ज कराया गया है जिसमें कहा गया है कि वो आचार संहिता का उल्लंघन कर रहे हैं।