उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
पीएम मोदी का बनारस दौरा व नामांकन 
पीएम मोदी का बनारस दौरा व नामांकन |उदय बुलेटिन 
इलेक्शन बुलेटिन

नामांकन से पहले पीएम मोदी का काशी में 20 वां दौरा, तीसरी बार करेंगे गंगा आरती 

काशी में आज पीएम मोदी करेंगे मेगा रोड शो , नामांकन होगा कल

Puja Kumari

Puja Kumari

बनारस संसदीय क्षेत्र से दूसरी बार नामांकन करने जा रहे पीएम मोदी एक बार फिर आज काशी में दौरा करने आ रहे हैं, जिसके जरिए वह पूर्वी उत्तर प्रदेश के साथ साथ बिहार को सियासी संदेश देंगे। वैसे चुनावी अधिसूचना जारी होने के बाद पीएम मोदी का काशी में यह पहला चुनावी दौरा है। प्रधानमंत्री गुरूवार और शुक्रवार ये दो दिन काशी में बिताएंगे, जिसमें पहले दिन मेगा रोड शो करेंगे, इस रोड शो के दौरान तक़रीबन 150 से ज्यादा सामाजिक संगठन पीएम मोदी के स्वागत के लिए पहुंचेंगे। दूसरे दिन यानि कि 26 अप्रैल को पीएम मोदी होटल डी पेरिस में भाजपा के बूथ अध्यक्षों व पदाधिकारियों के साथ बैठक करेंगे और यहां के बाद कालभैरव मंदिर दर्शन को जाएंगे जिसके बाद वह नामांकन करेंगे।

वाराणसी में पीएम मोदी 
वाराणसी में पीएम मोदी 
google

20 वां दौरा, तीसरी बार करने जा रहे गंगा आरती

पीएम मोदी काशी के दशाश्वमेध घाट पर होने वाली गंगा आरती में तीसरी बार भाग लेंगे, इससे पहले वो 2 बार गंगा आरती कर चुके हैं जिसमें पहली बार साल 2014 में चुनाव जीतने के बाद आए थें और फिर जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे के साथ शामिल हुए थें। इस दौरान पीएम मोदी के आगमन पर विशेष इंतजाम किया गया है, यहां पर वैदिक मंत्रोच्चारण के जरिए पीएम मोदी का स्वागत किया जाएगा। बताते चलें कि पीएम मोदी का काशी में यह 20 वां दौरा है।

पीएम मोदी का आज मेगा रोड शो 
पीएम मोदी का आज मेगा रोड शो 
google

काशी से लड़ेंगी प्रियंका तो दिलचस्प होगा मुकाबला

पिछले एक माह से प्रियंका गांधी के मोदी के खिलाफ चुनाव मैदान में उतरने को लेकर काफी सस्पेंस बना हुआ है, ऐसे में बनारस की गलियों में इसकी चर्चाएं बेहद ही तेजी से होने लगी है। हर किसी का कहना है कि जब पीएम मोदी वाराणसी से चुनाव लड़ रहे हैं तो इनसे मुकाबले के लिए कांग्रेस की ओर से भी उनके ही कद का दमदार उम्मीदवार होना चाहिए, हालांकि कुछ समय पहले से चर्चा हो रही है कि मोदी के खिलाफ कांग्रेस मैदान में प्रियंका को ही उतारने वाली है लेकिन अभी तक इस बात पर मोहर नहीं लगी है और यही कारण है कि कई लोग यह मान रहे कि अगर ऐसा होता है तो वाराणसी की राजनीति में कुछ नयापन देखने को मिलेगा। इसके जरिए कांग्रेस को बनारस के साथ पूर्वांचल को भी नया जीवन मिल सकता है। क्योंकि प्रियंका के यहां से लड़ने से लोगों को एक प्रभावशाली विकल्प मिल जाएगा।