उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
राहुल गाँधी पर मनहानी मुकदमा दर्ज
राहुल गाँधी पर मनहानी मुकदमा दर्ज|Twitter
इलेक्शन बुलेटिन

राहुल गांधी कर रहे थे “मोदी” की छवि धूमिल, अब दो साल के लिए जाना पड़ सकता है जेल 

एक दिन में कांग्रेस और राहुल गांधी पर चले चुनाव आयोग और कोर्ट के डंडे।  

AKANKSHA MISHRA

AKANKSHA MISHRA

पटना: बिहार की राजधानी पटना की एक अदालत में उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के खिलाफ मानहानि का एक आपराधिक मुकदमा दर्ज कराया है। दरअसल कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने 13 अप्रैल को बेंगलुरू से कुछ दूरी पर स्थित कोलार में अपनी एक चुनावी रैली के संबोधन के दौरान 'मोदी' टाइटल (उपनाम) वाले प्रत्येक व्यक्ति को चोर बताया था।

जिसके बाद बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने राहुल गांधी के खिलाफ पटना के मुख्य न्यायायिक दंडाधिकारी की अदालत में भारतीय दंड संहिता की धारा 500 के अंतर्गत गुरुवार को मामला दर्ज कराया है। मामला दर्ज कराने के बाद मोदी ने बताया कि इस मामले में दो वर्ष की सजा का प्रावधान है।

राहुल गांधी पर आरोप

मोदी ने अदालत में दाखिल अपनी अर्जी में राहुल गांधी पर आरोप लगाया है कि राहुल गांधी के इस तरह के भाषण से जितने भी 'मोदी' टाइटल वाले व्यक्ति हैं, उनको चोर बताया गया है, इससे समाज में उनकी छवि धूमिल हुई है।

मोदी ने कहा कि राहुल ने इस बात को कई बार दोहराया एवं उनका यह भाषण कई टीवी चैनलों पर लाइव दिखाया गया। अखबारों में भी यह खबर प्रमुखता से छपी और पटना में कई लोगों ने टीवी पर देखा एवं अखबारों में पढ़ा।

राहुल गांधी को सजा मिलनी चाहिए

बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा, "यह एक आपराधिक कृत्य है। अदालत द्वारा इसकी सजा राहुल गांधी को अवश्य मिलनी चाहिए।"

इस मुकदमे के लिए दी गई अर्जी में गवाह के रूप में संजीव चौरसिया, नितिन नविन और मनीष कुमार के हस्ताक्षर हैं।

मोदी ने अदालत से इस मामले में राहुल गांधी के खिलाफ संज्ञान लेकर उन्हें न्यायालय द्वारा तलब किए जाने का आग्रह करते हुए उनके खिलाफ मानहानि का आपराधिक मुकदमा चला कर सजा देने का निवेदन किया है।

'चौकीदार चोर नहीं, प्योर है"

मानहानि के मुक़दमे के साथ-साथ कांग्रेस पर चुनाव आयोग की कैंची भी चली है। मध्य प्रदेश के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने कांग्रेस के 'चौकीदार चोर है' विज्ञापन को निरस्त करते हुए उसके प्रसारण पर रोक के आदेश जारी किए हैं।

राजेश कौल द्वारा राज्य के सभी जिलाधिकारियों से बुधवार को एक आदेश जारी कर कहा गया है कि, लोकसभा चुनाव के लिए भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस द्वारा प्रसारित किए जा रहे विज्ञापन 'चौकीदार चोर है' को राज्य मीडिया प्रमाणन तथा अनुवीक्षण समिति द्वारा निरस्त किया गया है। लिहाजा इसके प्रसारण पर रोक लगाई जाए।

बता दें कि, भारतीय जनता पार्टी की ओर से कांग्रेस के 'चौकीदार चोर है' विज्ञापन को लेकर ऐतराज जताते हुए मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी के कार्यालय में अपील की गई थी। इस शिकायत में कहा गया था कि यह विज्ञापन अपमानजनक, बदनाम करने वाला और आपत्तिजनक है। यह भारत निर्वाचन आयोग द्वारा गठित विशेषज्ञों की मीडिया प्रमाणन एवं अनुवीक्षण समिति से बिना किसी अनुमति के प्रसारित हो रहा है।