उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
हेमा मालिनी का मेनका गांधी पर बयान 
हेमा मालिनी का मेनका गांधी पर बयान |File Photo
इलेक्शन बुलेटिन

मेनका गांधी पर हेमा मालिनी का बड़ा बयान कहा “हमें हर किसी की मदद करनी होगी, वोट दिया हो या नहीं”

कांग्रेस पार्टी ने कि चुनाव आयोग से मेनका गांधी के नामांकन को रद्द करने की मांग, अब बीजेपी नेता भी हमलावर हुए। 

AKANKSHA MISHRA

AKANKSHA MISHRA

सुल्तानपुर में एक जनसभा को संबोधित करते हुए बीजेपी नेता और सुल्तानपुर लोकसभा से सांसद उम्मीदवार मेनका गांधी ने मुस्लिम मतदाताओं से कथित तौर पर कहा कि वे आगामी लोकसभा चुनाव में उनके पक्ष में मतदान करें क्योंकि मुसलमानों को चुनाव के बाद उनकी जरूरत पड़ेगी।

मेनका ने कहा,

'मैं लोगों के प्यार और सहयोग से जीत रही हूं लेकिन अगर मेरी यह जीत मुसलमानों के बिना होगी तो मुझे बहुत अच्छा नहीं लगेगा।‘इतना मैं बता देती हूं कि फिर दिल खट्टा हो जाता है। फिर जब मुसलमान आता है काम के लिये, फिर मै सोचती हूं कि नहीं रहने ही दो क्या फर्क पड़ता है। आखिर नौकरी भी तो एक सौदेबाजी ही होती है, बात सही है या नहीं?'

मेनका के इस बयान के बाद, कांग्रेस पार्टी ने उनपर ‘धार्मिक भावनाएं’ भड़काने का आरोप लगाया है और चुनाव आयोग से आग्रह किया कि चुनावी ‘कदाचार’ के लिए उनका नामांकन खारिज किया जाए। कांग्रेस के इस आरोप के बाद मेनका गांधी के बयान पर बीजेपी के नेताओं ने भी नाराजगी जताई हैं। नेता उन्हें नसीहत दे रहे हैं कि "हमें वोट मिले या नहीं मिले हमें सबके साथ एक सामान भावना रखना चाहिए।

मेनका गांधी पर बात करते हुए बीजेपी नेता और मथुरा से भाजपा सांसद उम्मीदवार हेमा मालिनी ने कहा -

“मुझे अपनी जीत का पूरा भरोसा है क्योंकि मैंने अच्छा काम किया है, मेरी सरकार ने अच्छा काम किया है, इसलिए मुझे यकीन है कि लोग हमारा समर्थन करेंगे। मुझे किसी को बरगलाने की जरुरत नहीं है। देश में पूरी व्यवस्था बदल रही है, लोग विकास चाहते हैं, जाति की राजनीति अब काम नहीं करती है। ट्रिपल तालक मुद्दे पर कई अल्पसंख्यक समुदाय की महिलाएं हमारा समर्थन करती हैं, लेकिन अगर वे नहीं भी हैं, तो भी आपको हर किसी की मदद करनी होगी, इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि किसने हमें वोट दिया और किसने नहीं। इस तरह की भावना मुझे नहीं आती है। हर कोई अलग है।”

हेमा मालिनी

वहीं मेनका के इस बयान पर बीजेपी सहित कांग्रेस पार्टी के नेता भी ताबड़तोड़ हमला कर रहे हैं। कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला ने कहा,

‘‘ सच्चाई ये है कि मोदी जी और उनके मंत्री बौखला गए हैं। चुनाव की दौड़ को पूरी करने में वो अपने आपको असक्षम पा रहे हैं। इसलिए कभी जाति का नाम लेकर, कभी धर्म का नाम लेकर, कभी उत्तर और दक्षिण भारत का नाम लेकर, कभी रंग भेद करके, कभी भाषा का नाम लेकर, कभी कपड़ों को लेकर, कभी भोजन का नाम लेकर इस देश की गंगा-जमुनी तहजीब को मिटाना चाहते हैं।’’

उन्होंने कहा कि -

"हमने चुनाव आयोग को कहा है कि जो जाति और धर्म के आधार पर नफरत और बंटवारा फैलाए, ऐसी मंत्री को एक दिन भी उम्मीदवार बने रहने का अधिकार नहीं है। उनका नामांकन रद्द करना चाहिए और धार्मिक भावनाएं भड़काकने के लिए उनके खिलाफ प्राथमिकी दर्ज होनी चाहिए।’’

आपको बता दें, मेनका गांधी सुल्तानपुर से बीजेपी उम्मीदवार हैं, वहां मुसलमानों की आबादी तीन लाख है और हिन्दुओं की आबादी तीन लाख दस हज़ार हैं। सुल्तानपुर में 12 मई को लोकसभा चुनाव होना है, चुनाव के नतीजे 23 मई को आएंगे।