उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
भीम आर्मी के अध्यक्ष चन्द्रशेखर रावण
भीम आर्मी के अध्यक्ष चन्द्रशेखर रावण
इलेक्शन बुलेटिन

प्रधानमंत्री मोदी के खिलाफ लोकसभा चुनाव लड़ने वाले चन्द्रशेखर रावण कौन हैं ?

भीम आर्मी के अध्यक्ष चन्द्रशेखर रावण ने कहा है कि वह लोकसभा चुनाव में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ चुनाव मैदान में उतरेंगे।

AKANKSHA MISHRA

AKANKSHA MISHRA

मेरठ: लोकसभा चुनाव जैसे-जैसे करीब आ रहा है, वैसे-वैसे चुनाव, नेता, उम्मीदवारों से जुड़ी कई घटनाएं सामने आ रही हैं। अब खबर ये मिली है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ चन्द्रशेखर रावण चुनाव लड़ने वाले हैं। और यह घोषणा उन्होंने खुद ही कर ली है। वे किस संसदीय क्षेत्र से चुनाव लड़ेंगे और किस पार्टी से चुनाव लड़ेंगे इसकी पुष्टि नहीं हुई है। लेकिन यह बात तो पक्की है कि चन्द्रशेखर रावण, प्रधानमंत्री मोदी के खिलाफ स्वघोषित उम्मीदवार हैं।

कौन हैं चन्द्रशेखर रावण

चन्द्रशेखर रावण भीम आर्मी के अध्यक्ष हैं। पेश से वकील हैं और अविवाहित हैं। साल 2017 में जब अपने गांव शब्बीरपुर से सहारनपुर आये थे तो उन्हें कोई जनता तक नहीं था। 9 मई 2017 में शब्बीरपुर गांव में हुई साम्प्रदायिक हिंसा ने उन्हें हीरो बना दिया। जिसके बाद वे सहारनपुर आ गए। भीम आर्मी की स्थापना की और जिला स्तरीय नेता बन गए। चन्द्रशेखर रावण की दो बहनें और दो भाई हैं। एक बहन की शादी हो गई है और भाई मेडिकल की पढाई करा रहा है।

चन्द्रशेखर रावण भीम आर्मी
चन्द्रशेखर रावण भीम आर्मी
Twitter

क्या कहना है 'रावण' का

भीम आर्मी के अध्यक्ष चन्द्रशेखर रावण ने कहा है कि वह लोकसभा चुनाव में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ चुनाव मैदान में उतरेंगे। पहले तो अपने संगठन से कोई मजबूत प्रत्याशी उतारने का प्रयास करेंगे, और प्रत्यासी न मिलने पर वह स्वयं मोदी के खिलाफ चुनाव लड़ेंगे। उन्होंने बुधवार को यहां जारी एक वीडियो में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर निशाना साधते हुए कहा कि कल (मंगलवार) देवबंद में उनकी पदयात्रा उन्हीं के इशारे पर रोकी गई थी। उन्होंने कहा, "हमारे पास पदयात्रा की अनुमति थी। लेकिन प्रशासन और सरकार इस बात को लेकर झूठ फैला रहे हैं।"

मायावती और अखिलेश यादव के समर्थक

चंद्रशेखर ने कहा, "लोकसभा चुनाव में मायावती को पूरा समर्थन दिया जाएगा। अखिलेश यादव को अभी प्रमोशन में आरक्षण के मुद्दे पर अपना रुख साफ करना होगा। सपा संरक्षक मुलायम सिंह अपने बयान से लोगों में भ्रम पैदा कर रहे हैं।"

रावण ने कहा, "15 मार्च को दिल्ली में बहुजन हुंकार रैली होगी। इसमें बड़ी संख्या में लोग भाग लेंगे। चाहे जो इसे रोकने का प्रयास करे, अब यह रुकेगा नहीं।"

हमारे देश में कई बड़बोले नेता हैं, जो मात्र राजनीतिक लाभ और खुद की प्रसिद्धि के लिए उलटी पुलटी बयानबाजी करते हैं और किसी बड़े नेता के समक्ष चुनाव मैदान में उतर जाते हैं। इससे उन्हें पब्लिसिटी मिल जाती है और लोग उनके बारे में बातें करने लगते हैं। नेता बनने के क्रम में यह पहली सीढ़ी मानी जाती है। बहरहाल चन्द्रशेखर रावण प्रधानमंत्री मोदी के खिलाफ चुनाव लड़ते हैं या नहीं ये तो समय पर पता चलेगा। फिलहाल वे अपने पक्ष में चुनावी माहौल बना लें तो बेहतर है। आपको बता दें, कि भीम आर्मी के प्रमुख चन्द्रशेखर को पुलिस ने मंगलवार को देवबंद में आचार संहिता उल्लंघन के आरोप में हिरासत में ले लिया गया था। बाद में उनकी तबीयत खराब होने पर मेरठ इलाज के लिए भेज दिया गया था।