उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
रॉबर्ट वाड्रा (Robert Vadra) उत्तरप्रदेश के मुरादाबाद से लड़ेंगे चुनाव
रॉबर्ट वाड्रा (Robert Vadra) उत्तरप्रदेश के मुरादाबाद से लड़ेंगे चुनाव|Twitter
इलेक्शन बुलेटिन

Loksabha Election 2019: तो क्या अब गांधी परिवार के दामाद बनेंगे प्रधानमंत्री ?

अपनी फेसबुक पोस्ट के जरिये सक्रिय राजनीति में आने का संकेत दे चूके रॉबर्ट वाड्रा (Robert Vadra) को लेकर उत्तर प्रदेश में सियासी हलचल तेज हो गई है। 

AKANKSHA MISHRA

AKANKSHA MISHRA

UPA चेयरपर्सन सोनिया गांधी के दामाद रॉबर्ट वाड्रा राजनीति में आना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि "मैं लोगों की मदद के लिए ही राजनीति में नहीं आना चाहता लेकिन अगर ऐसा करने से मैं कोई बड़ा अंतर तय कर पाऊं तो क्यों नहीं? लेकिन यह लोग तय करेंगे कि मैं राजनीति में रहूं या न रहूं।" रोबर्ट वाड्रा के इस बयान के बाद से ही कयास लगाए जा रहे थे कि लोकसभा चुनाव से पहले वे राजनीति में आ सकते हैं। अब उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद में लगा रॉबर्ट वाड्रा का पोस्टर उनके इस बयान की पुष्टि कर रहा है।

दरअसल उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद में रॉबर्ट वाड्रा के नाम का पोस्टर लगा हैं, जिसमें साफ साफ लिखा है "रॉबर्ट वाड्रा जी, मुरादाबाद लोकसभा से चुनाव लड़ने के लिए आपका स्वागत है।" लोकसभा चुनाव और रॉबर्ट वाड्रा के फेसबुक पोस्ट के ठीक बाद लगा ये पोस्टर उनके राजनीति में आने का संकेत दे रहा है।

क्या लिखा है रॉबर्ट वाड्रा ने अपने फेसबुक पोस्ट में आपक खुद ही पढ़ लें

“मैं बड़े स्तर पर लोगों की सेवा करने के लिए तैयार हूं। महीनों और सालों तक लोगों के बीच काम करने के बाद मुझे ऐसा लगता है कि मुझे आम जनता के लिए बड़े स्तर पर कुछ करने की जरूरत है। खासतौर पर यूपी में काम करने के बाद ऐसा लगा कि यहां काफी कुछ करना बाकी है। मेरे हिसाब से बीते कुछ सालों में सीखे गए अपने अनुभव को यूं ही बेकार होने देना सही नहीं है। एक बार जैसे ही मेरे ऊपर लगे सभी आरोप निराधार साबित हो जाएंगे उसके बाद में बड़े स्तर पर काम करना चाहूंगा।”  
रॉबर्ट वाड्रा का फेसबुक पोस्ट 

रॉबर्ट वाड्रा की पत्नी प्रियंका गांधी वाड्रा पिछले दिनों ही कांग्रेस की सक्रिय राजनीति में शामिल हुई हैं। पार्टी में शामिल होते ही उन्हें कांग्रेस का महासचिव बना दिया गया और उत्तर प्रदेश की कमान सौप दि गई। जिस महासचिव पद को पाने के लिए कांग्रेस पार्टी के अन्य कार्यकर्ताओं को दशकों लग जाते हैं उसे प्रियंका गांधी को पार्टी में आते ही दे दिया गया। काफी विवाद भी हुआ लेकिन प्रियंका गांधी कांग्रेस महासचिव बनी रही। ऐसे में अगर लोकसभा चुनाव में कांग्रेस बहुमत लेकर सत्ता में आती है तो प्रियंका गांधी वाड्रा और रॉबर्ट वाड्रा को कोई बड़ा पद जरूर मिल सकता है।