उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
भारतीय निर्वाचन आयोग 
भारतीय निर्वाचन आयोग |Google
इलेक्शन बुलेटिन

विधानसभा चुनाव परिणाम: मिजोरम सरकार के नवनिर्वाचित विधायकों में 90 फीसदी मंत्री है करोड़पति 

मिजोरम, केरल (93.91) के बाद भारत का दूसरा सबसे अधिक साक्षर (91.58 फीसदी) राज्य है।

AKANKSHA MISHRA

AKANKSHA MISHRA

आइजोल | मिजोरम विधानसभा चुनाव में MNF पूर्ण बहुमत के साथ राज्य की सबसे बड़ी पार्टी बन कर उभरी है। MNF ने 40 विधानसभा सीटों में से 26 सीटों पर कब्ज़ा जमाया है। वहीं कांग्रेस ने पांच, बीजेपी ने 1 और निर्दलीय प्रत्याशियों ने 8 सीटों पर जीत दर्ज की है। हालांकि, इस चुनाव में कांग्रेस के मुख्यमंत्री पी. ललथनहवला चंफाई साउथ और सेरछिप दोनों सीटों से चुनाव हार गए हैं। बता दें कि मिजोरम में कांग्रेस पिछले 10 सालों से सत्ता में थी। 10 सालों के बाद MNF फिर से राज्य की सत्ता पर काबिज होने जा रही है।

एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफार्म्स (एडीआर) के एक सर्वेक्षण के अनुसार मिजोरम के नवनिर्वाचित चालीस विधायकों में से छत्तीस करोड़पति हैं। यह सर्वेक्षण बुधवार की रात को जारी किया गया। इसमें कहा गया है कि पांच सालों में मिजोरम में करोड़पति विधायकों की संख्या में 15 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है। मिजोरम में प्रति व्यक्ति आय 95,317 रुपये है।

साल 2013 में 40 विधायकों में से 30 विधायक करोड़पति थे। निर्वाचन आयोग में 28 नवंबर के विधानसभा चुनाव के लिए दाखिल किए गए नवनिर्वाचित विधायकों के हलफनामों के विश्लेषण से सर्वेक्षण में कहा गया है कि सदस्यों की औसत संपत्ति बढ़कर 4.84 करोड़ रुपये हो गई है। यह पांच साल पहले 3.10 करोड़ रुपये थी।

मिजोरम में प्रति व्यक्ति आय 2015-16 में 11.27 फीसदी बढ़कर 95,917 रुपये हुई है, जबकि यह 2014-15 में 85,659 रुपये थी। मिजोरम के 40 विधायकों में से दो (5 फीसदी) ने अपने खिलाफ आपराधिक मामले घोषित किए हैं। मिजोरम में 2013 विधानसभा चुनावों में किसी भी उम्मीदवार पर आपराधिक मामला नहीं था।

मिजोरम के 10 विधायकों की शैक्षिक योग्यता पांचवी से 12वीं के बीच है, जबकि 29 विधायक स्नातक या इससे ऊपर हैं। मिजोरम, केरल (93.91) के बाद भारत का दूसरा सबसे अधिक साक्षर (91.58 फीसदी) राज्य है। राज्य में 28 नवंबर को हुए चुनावों में कुल 209 उम्मीदवार मैदान में थे।

--आईएएनएस