उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और मप्र कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ 
कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और मप्र कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ |Google
इलेक्शन बुलेटिन

MP Election Result 2018: कांग्रेस ने राज्यपाल के समक्ष पेश किया सरकार बनाने का दावा, कमलनाथ की ‘कमल’ पर जीत 

राज्य में मतगणना का दौर मंगलवार की देर रात तक जारी रहा। कांग्रेस 114 सीटों पर बढ़त बनाए हुए है, वहीं भाजपा 109 सीटों पर अटकी है।

AKANKSHA MISHRA

AKANKSHA MISHRA

भोपाल | मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव के नतीजों में बहुमत से तीन सीट कम कांग्रेस सरकार बनाने का दावा पेश करने की तैयारी में है। पार्टी ने राज्यपाल आनंदीबेन पटेल को पत्र लिखकर समय मांगा है। राज्य में मतगणना का दौर मंगलवार की देर रात तक जारी रहा। कांग्रेस 114 सीटों पर बढ़त बनाए हुए है, वहीं भाजपा 109 सीटों पर अटकी है। सरकार बनाने में सक्षम होने का दावा करते हुए कांग्रेस ने राज्यपाल को पत्र लिखकर समय मांगा है। कांग्रेस नेता कमलनाथ का पत्र जिसमें उन्होंने सरकार बनाने का दावा पेश किया है और राज्यपाल से मिलने का वक्त मांगा है |

कांग्रेस के मीडिया विभाग की अध्यक्ष शोभा ओझा ने बताया कि कांग्रेस ने राज्यपाल को पत्र भेजकर सरकार बनाने का अपना दावा पेश करने के लिए समय मांगा है। राज्यपाल की ओर से देर रात या सुबह का समय मिलता है तो उसी समय पर कांग्रेस का प्रतिनिधिमंडल राज्यपाल से मुलाकात कर अपना दावा पेश करेगा।

2013 में मध्यप्रदेश की स्थिति

- 2013 में विधानसभा चुनावों में बीजेपी को मिली सीटें- 165

- 2013 में कांग्रेस को मिली सीटें - 58

- 2013 में बहुजन समाज पार्टी (बसपा) ने जीती सीटें - 4

- 2013 में निर्दलीय ने जीती सीटें - 3

2018 में मध्यप्रदेश की स्थिति

- 2018 में विधानसभा चुनावों में बीजेपी को मिली सीटें- 108

- 2018 में कांग्रेस को मिली सीटें - 114

- 2018 में बहुजन समाज पार्टी (बसपा) ने जीती सीटें - 2

- 2018 में निर्दलीय ने जीती सीटें - 6

वहीं कांग्रेस के सूत्रों का कहना है कि पार्टी ने विजयी उम्मीदवारों की बुधवार को भोपाल में बैठक बुलाई है। इस बैठक में विधायकों की उपस्थिति में कांग्रेस अगली रणनीति तय करेगी।

आपको बता दें कि मध्यप्रदेश के विधानसभा चुनाव में इस बार 75.05 प्रतिशत मतदान हुआ था। सत्तारूढ़ बीजेपी भाजपा और कांग्रेस समेत सभी दलों व निर्दलीय प्रत्याशियों को मिलाकर कुल 2,899 उम्मीदवार मैदान में हैं। गौरतलब है कि एग्जिट पोल के नतीजों के अनुसार मध्य प्रदेश में बीजेपी और कांग्रेस में कांटे की टक्कर होने की उम्मीद जताई गई थी और अनुमान सही साबित हुआ। हालांकि कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने राज्यपाल से समय मंगा है।