उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव
मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव|MPBJP
इलेक्शन बुलेटिन

आचार संहिता का उल्लंघन: मध्य प्रदेश में 14 हजार गैर जमानती वारंट तामील

मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए आदर्श आचार संहिता लागू होने के बाद 17 दिनों में 14 हजार गैर जमानती वारंट तामील किए जा चुके हैं।

AKANKSHA MISHRA

AKANKSHA MISHRA

भोपाल: मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए आदर्श आचार संहिता लागू होने के बाद 17 दिनों में 14 हजार गैर जमानती वारंट तामील किए जा चुके हैं। राज्य के मुख्य निर्वाचन अधिकारी वी. एल़ कान्ता राव ने मंगलवार को कानून-व्यवस्था बनाए रखने के लिए की जा रही कार्रवाई का ब्योरा दिया और बताया कि आदर्श आचार संहिता लागू होने के बाद छह अक्टूबर से 22 अक्टूबर तक प्रदेश में 14,036 गैर जमानती वारंट तामील कराए गए हैं और 1,395 अवैध हथियार जब्त किए गए हैं। इसी दौरान 199,401 शस्त्र थानों में जमा कराए गए हैं।

उन्होंने बताया कि संपत्ति विरूपण (सरकारी और गैर सरकारी संपत्ति का चुनाव प्रचार के लिए उपयोग) के अन्तर्गत 12,54,360 प्रकरण दर्ज किए गए हैं, जिनमें से 12,14,933 प्रकरणों में कार्रवाई की गई है। शासकीय संपत्ति विरूपण में 998,063 प्रकरण दर्ज कर 9,76,235 प्रकरणों में कार्रवाई की गई। निजी संपत्ति विरूपण के अंतर्गत 2,56,297 प्रकरण दर्ज कर 2,38,698 प्रकरणों में कार्रवाई की गई। वाहनों के दुरुपयोग पर 5,761 प्रकरण दर्ज किए गए।

आपको बता दें, मध्यप्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव के मध्य नजर निर्वाचन आयोग ने सख्त नियम लागू किये थे, इसके बावजूद नेताओं द्वारा आचार संहिता का उल्लंघन किया गया है और नेताओं के खिलाफ 14 हज़ार से ज्यादा मामले दर्ज हुए हैं।

कौन से नियम तोड़े गए

- मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए आदर्श आचार संहिता लागू है, फिर भी छतरपुर जिले में शनिवार को 'बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ' की बैठक हुई और सरकारी योजनाओं का प्रचार किया गया।

- मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तस्वीरों के पैम्फलेट गए।

- इन सब के बीच मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के प्रमुख सचिव एस.के. मिश्रा के मार्गदर्शन में 'सिल्वर टच' कंपनी के कर्मचारी सरकारी भवन में बैठकर भाजपा के लिए चुनाव प्रचार कर रहे हैं। यह कंपनी ट्विटर, इंस्टाग्राम, फेसबुक और वाट्सएप पर संदेश भेजने का काम कर रही है।