उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
जेम्स नीशम (Jimmy Neesham)
जेम्स नीशम (Jimmy Neesham)|Social Media
क्रिकेट

वर्ल्ड कप हारने के बाद न्यूजीलैंड के खिलाड़ी जेम्स नीशम की बच्चों से भावुक अपील, आपको भी रुला देगी 

जेम्स नीशम ने बच्चों से कहा इसे कभी मत चुनना 

AKANKSHA MISHRA

AKANKSHA MISHRA

बीते रात इंग्लैंड और न्यूजीलैंड के बीच हुआ ICC वर्ल्ड कप का फ़ाइनल मुकाबला सुपर ओवर तक गया और दोनों ही टीमों के बराबर स्कोर होने के कारण विश्व कप विजेता का चुनाव बाउंड्री के आधार पर हुआ। ICC के इस नियम की हर कोई आलोचना कर रहा है। विश्व विजेता बनी इंग्लैंड ICC के इस फैसले से भले ही खुश हो लेकिन न्यूज़ीलैण्ड के खिलाड़ी इस फैसले से बहुत दुखी हैं।

न्यूज़ीलैण्ड के ऑलराउंडर खिलाड़ी जेम्स नीशम इस तरह वर्ल्ड कप हारने के बाद बेहद निराश हो गए हैं। और अपनी निराशा जाहिर करते हुए उन्होंने ट्विटर पर कुछ भावुक पोस्ट लिखा है। जेम्स नीशम ने अपने पोस्ट में बच्चों से अपील की है कि "बच्चों बड़े होकर यह खेल मत चुनना। बेकिंग चुनो या कुछ भी चुनो। जब 60 साल की उम्र में मोटे हो जाओ, मस्ती करो और इस दुनिया से जाओ।

उन्होंने एक के बाद एक 3 ट्वीट किये। उनका दूसरा ट्वीट क्रिकेट फैंस के लिए था। अपने दूसरे ट्वीट में उन्होंने लिखा कि "आप सभी यहां हमें सपोर्ट करने आये, आप सभी को धन्यवाद। मैच के दौरान आप लोगों ने हमारा हौसला बढ़ाया है, वो बहुत ही शानदार था, मैदान में हम आपको सुन सकते थे। लेकिन हमें माफ़ कर दीजिएगा। हम आपकी इच्छा पूरी नहीं कर सके। हम यह मैच हार गए।

अपने तीसरे ट्वीट में उन्होंने कहा "यह दुखद था। उम्मीद है कि अगले एक दशक में कोई एक या दो दिन हो जब मैं इस मैच के अंतिम आधे घंटे के बारे में ना सोचूं। इंग्लैंड यह मैच जीत गई है। वे इस जीत के हक़दार थे। इंग्लैंड को शुभकामना।”

आपको बता दें कि जेम्स नीशम अपने प्रदर्शन से इसलिए भी ज्यादा दुखी है क्योंकि इंग्लैंड बनाम न्यूज़ीलैण्ड के आखिरी सुपर ओवर में न्यूज़ीलैण्ड टीम मैनेजमेंट ने जेम्स नीशम को मैदान में भेजने का फैसला लिया था। जहां उन्होंने मैच और रोमांचित बनाते हुए आखिरी ओवर में एक छक्का जड़ दिया अगर जेम्स नीशम एक और बॉउंड्री खेल लेते तो शायद अभी न्यूज़ीलैण्ड में दिवाली मन रही होती।