उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
 ‘बलिदान ग्लव्स’ विवाद
‘बलिदान ग्लव्स’ विवाद|Twitter
क्रिकेट

‘बलिदान ग्लव्स’ विवाद पर क्या चाहते हैं भारतीय खिलाड़ी, धोनी के पास अब एक ही रास्ता

BCCI भले ही ‘बलिदान ग्लव्स’ विवाद में धोनी के साथ हो पर उन्हें इस मुसीबत से नहीं बचा सकता  

Uday Bulletin

Uday Bulletin

ICC ने महेंद्र सिंह धोनी के खिलाफ एक फरमान निकाला है। ICC ने कहा धोनी ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ आगे होने वाले मैच में ‘बलिदान ग्लव्स’ नहीं पहन सकते अगर वो ऐसा करते हैं तो इसे अपराध माना जाएगा। अगर धोनी बलिदान चिन्ह वाले ग्लव्स भविष्य में पहनते रहेंगे तो यह 12 महीनों के अंदर दूसरा अपराध माना जाएगा इस स्थिति में उन्हें मैच फीस का 25% जुर्माना देना होगा। अगर वो तीसरी बार ग्लव्स पहनेगें तो उनपर मैच फीस का 50% जुर्माना लगेगा और चौथी बार ऐसा होने पर मैच फीस का 75% तक काट लिया जाएगा।

इस स्थिति में धोनी के पास दो ही रास्ते बचे हैं। या तो वो ‘बलिदान ग्लव्स’ ना पहने या फिर ग्लव्स से ‘बलिदान बैज’ को ढक लें। ऐसा करने से वह ICC की नज़र में अपराधी नहीं माने जाएंगे। 

'बलिदान ग्ल्व्स' विवाद पर भले ही टीम इंडिया, भारत सरकार और धोनी के फैंस उनके साथ है लेकिन BCCI के सीईओ राहुल जौहरी महेंद्र सिंह धोनी के साथ खड़े नहीं दिख रहे हैं।

BCCI के अधिकारी विनोद राय ने इस मामले को लेकर कहा है कि अगर सेना का चिन्ह ICC के नियमों का उल्लंघन है तो BCCI इसका उल्लंघन नहीं करेगी।

वहीं जब टीम इंडिया के खिलाड़ियों से पूछा गया तो उन्होंने कहा कि वे अपने पूर्व कप्तान के साथ हैं। कप्तान विराट कोहली ने भी कहा कि धोनी ने सेना के सम्मान में यह चिन्ह लगाया है और इसमें कोई हर्ज नहीं।

वर्ल्ड कप के लिए लंदन पहुंची टीम इंडिया के खिलाड़ियों ने साफ कर दिया है कि वे धोनी के साथ हैं और इस मामले को बिना मतलब का तूल दिया जा रहा है। खिलाड़ियों के मुताबिक वे कपड़ों और उपकरणों को लेकर ICC के रेगुलेशन पर बहस नहीं करना चाहते और वे इस बात पर भी चर्चा नहीं चाहते कि BCCI का मेल जाने के बाद ICC को इस सम्बंध में इजाजत दे देनी चाहिए थी, लेकिन एक बात तय है कि वे अपने पूर्व कप्तान के साथ खड़े हैं।

इन सब के अलावा सबसे मजेदार बात यह भी है कि धोनी को पूर्व भारतीय खिलाड़ियों से भी समर्थन प्राप्त हुआ हैं, पूर्व खिलाड़ियों ने कहा है कि धोनी के बलिदान बैज से किसी को कोई खतरा नहीं।

यहां तक की अन्य खेलों से जुड़े खिलाड़ियों ने भी कहा है कि धोनी का बलिदान बैज पहनना गलत नहीं है।

अब देखना होगा कि "इस विवाद के बाद आईसीसी अपना फ्रस्ट्रेशन भारतीय खिलाड़ियों के साथ किस तरह निकाल सकता है।