उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
बल्लेबाज मिताली राज
बल्लेबाज मिताली राज|IANS
क्रिकेट

Ind Vs Eng Women Semifinal: अनुभवी बल्लेबाज मिताली राज टीम से बाहर, इस वजह से लिया गया यह फैसला 

इंग्लैंड के खिलाफ शुक्रवार को महिला टी-20 विश्व कप के सेमीफाइनल में भारतीय कप्तान हरमनप्रीत कौर के अनुभवी बल्लेबाज मिताली राज को बाहर कर दिया। 

AKANKSHA MISHRA

AKANKSHA MISHRA

नई दिल्ली | इंग्लैंड के खिलाफ शुक्रवार को महिला टी-20 विश्व कप के सेमीफाइनल में भारतीय कप्तान हरमनप्रीत कौर के अनुभवी बल्लेबाज मिताली राज को बाहर रखने की भारतीय क्रिकेट जगत में काफी आलोचना हो रही है। क्रिकेट पंडितों के बाद मिताली राज की मैनेजर अनीशा गुप्ता ने एक ट्वीट के जरिए हरमनप्रीत को आड़े हाथों लिया है और उन्हें 'अपरिपक्व', 'झूठी' और 'चालाक' बताया है।

अनीशा ने अपने ट्विट में लिखा है, "दुर्भाग्यवश भारतीय टीम राजनीति में विश्वास करती है न कि खेल में। भारत और आयरलैंड मैच में मिताली राज का अनुभव कितना काम आ सकता था इसको देखने के बाद भी उसने हरमनप्रीत जो 'अपरिपक्व', 'झूठी' और 'चालाक' हैं, को खुश करने के लिए उन्होंने हरमनप्रीत को मन की करने दी।"

यह ट्विट एक असत्यापित ट्वीटर आकउंट से आया था। वेबसाइट ईएसपीएनक्रिकइंफो ने जब अनीशा से इस बारे में पूछा कि क्या यह उन्हीं का ट्विट हो तो मैनेजर ने हामी भरी और अपने बयान पर कायम रहीं। हालांकि उनक अकाउंट कुछ घंटे बाद डिलीट कर दिया गया।

वेबसाइट ने अनीशा के हवाले से लिखा है, "मैं नहीं जानती की अंदर क्या चल रहा है लेकिन चूंकि मैचों का प्रसारण हो रहा है तो हम देख सकते हैं कि कौन प्रदर्शन कर रहा है और कौन नहीं। हम देख सकते हैं कि मिताली के साथ अच्छा प्रदर्शन करने के बाद भी क्या हो रहा है। इसके पीछ काफी गहराई है जिसे देखने की जरूरत है।"

जब उनसे पूछा गया कि क्या उन्हें अपने ट्विट पर पछतावा है तो उन्होंने कहा, "हो सकता है कि मैं ज्यादा गुस्से में हूं, लेकिन यह बात सही जगह से आई है क्योंकि मैं गलत के साथ खड़ी नहीं रह सकती। जिस तरह का फेवरेटिजम दिखाया जा रहा वो साफ तौर पर जाहिर है।"

आपको बता दें कि, विंडीज में खेले जा रहे छठे महिला टी20 विश्व कप में भारत और इंग्लैंड के बीच खेले गए सेमीफाइनल मुकाबले में टीम मैनजमेंट द्वारा अहम मुकाबले में अनुभवी मिताली राज को बाहर बैठाना विवाद का विषय बना हुआ है। सेमीफाइनल में भारतीय टीम पहले बैटिंग करते हुए 19.3 ओवरों में सिर्फ 112 रनों पर ढेर हो गई थी। और हार के बाद तमाम लोग टीम मैनेजमेंट और कोच रमेश पोवार पर टूट पड़े। मिताली राज ने खेले 3 मैचों में 53.50 के औसत से 107 रन बनाए। लेकिन इसके बावजूद जब सेमीफाइनल जैसे मुकाबले से मिताली को बाहर किया गया, तो क्रिकेट जगत ने इस फैसले की तीखी आलोचना की।

सेमीफाइनल मुकाबले में भारत पहले बल्लेबाजी करते हए 19.3 ओवरों में सिर्फ 112 रनों पर ढेर हो गया था। इंग्लैंड ने फिर उसे आसानी से आठ विकेट से मात दे कर फाइनल का टिकट हासिल कर लिया था। भारत को इस मैच में हार का सामना करना पड़ा और उसका पहली बार महिला टी-20 विश्व कप जीतने का सपना टूट गया।