उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
Gunjan Saxena: The kargil Girl
Gunjan Saxena: The kargil Girl|Social Media 
बॉलीवुड बुलेटिन

श्रीदेवी की बेटी जाह्नवी कपूर कारगिल गर्ल ‘गुंजन सक्सेना’ की बायोपिक फिल्म में नज़र आएंगी !

कौन हैं जांबाज गुंजन सक्सेना ?

AKANKSHA MISHRA

AKANKSHA MISHRA

जाह्नवी कपूर की आने वाली फिल्म का पोस्टर आज रिलीज़ हुआ , फिल्म का नाम है 'गुंजन सक्सेना-द कारगिल गर्ल'। यह फिल्म अपने आप में दिलचस्प होगी, कहानी देश की एक रियल वॉर हीरो की है, जिसका नाम 'गुंजन सक्सेना' है। कुछ समय पहले इस फिल्म के नाम की घोषणा हुई थी, तब इसका नाम 'द कारगिल गर्ल' था। लेकिन अब फिल्म के निर्मातों ने इसका नाम बदल दिया है।

फिल्म 'गुंजन सक्सेना-द कारगिल गर्ल' का आज फर्स्ट लुक भी रिलीज़ किया गया। जाह्नवी कपूर ने फिल्म के तीन पोस्टर अपने सोशल मीडिया अकाउंट में शेयर किये, फिल्म के एक पोस्टर में जान्हवी कागज के बने प्लेन उड़ा रही है, दूसरे पोस्टर में वो सेना की वर्दी में हैं और तीसरे पोस्टर में वो पंकज त्रिपाठी के गले मिल रही हैं, बताया जा रहा कि इस फिल्म में पंकज, जान्हवी के पिता का किरदार निभा रहे हैं।

बताया जा रहा है कि ये फिल्म 13 मार्च 2020 को रिलीज़ होगी, फिल्म का निर्माण कारण जौहर कर रहे हैं और फिल्म के निर्देशन का जिम्मा शरण शर्मा के हाथों में हैं। इस फिल्म के पोस्टर के साथ एक बड़ी खूबसूरत लाइन लिखी है "लड़कियां पॉयलेट नहीं बनती।"

ये तो हुई फिल्म के बात, लेकिन अब सवाल ये है कि आखिर गुंजन सक्सेना हैं कौन ? जिनपर फिल्म बन रही है, आखिर उन्होंने ऐसा कौन सा काम किया था जिसे अब तक याद रखा गया है ? तो आज हम आपको इन सारे सवालों का जवाब देंगे।

कौन हैं गुंजन सक्सेना ?

गुंजन सक्सेना भारतीय वायुसेना की पहली महिला फ्लाइट लेफ्टिनेंट रही हैं। साल 1999 में कारगिल युद्ध के दौरान गुंजन LOC पर तैनात थीं, दुश्मन के युद्ध क्षेत्र में घुसकर हमला करने वाली गुंजन भारत की पहली महिला कॉम्बेट एविएटर हैं। इस मिशन में उनके साथ श्रीविद्या राजन भी थी। 44 साल की गुंजन अब भारतीय वायु सेना से सेवानिवृत्ति हो चुकी हैं।

कारगिल युद्ध के दौरान गुंजन ने बिना किसी हथियार के बड़ी बहादुरी से जंग में घायल सैनिकों की जान बचाई थी, घायल जवानों को सुरक्षित अस्पताल में पहुंचाया था। भारत सरकार ने उनकी इस बहादुरी को देखते हुए उन्हें सौर्य पुरस्कार से सम्मानित किया था। कहा जाता है कि गुंजन जब पांच साल की थी वो तब से पॉयलेट बनना चाहती थी।