उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
विक्की कौशल
विक्की कौशल|IANS
बॉलीवुड बुलेटिन

धोनी के बाद सीमा पर पहुंचे विक्की कौशल, 14 हजार फीट की ऊंचाई पर सेना के साथ बिता रहे हैं समय

भारत-चीन बॉर्डर पर पहुंचे विक्की कौशल 

AKANKSHA MISHRA

AKANKSHA MISHRA

टीम इंडिया के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी इन दिनों देश के प्रति अपनी जिम्मेदारियों को अंजाम देने में लगे हैं और भारत के सबसे ज्यादा उग्रवाद प्रभावित क्षेत्र दक्षिणी कश्मीर के अवंतीपुरा इलाके में सेना की विशेष टुकड़ी के साथ सरहद की निगरानी कर रहे हैं। अब खबर आ रही है कि महेंद्र सिंह धोनी की तरह बॉलीवुड एक्टर विक्की कौशल भी बॉर्डर के लिए निकल चुके हैं और वो कश्मीर ना जाकर अरुणाचल प्रदेश के तवांग इलाके में अपनी सेवा देंगे।

दरअसल विक्की कौशल को आर्मी ऑफिसर के रूप में देखना लोगों को खूब पसंद आता है। इस साल जनवरी में रिलीज़ हुई उनकी फिल्म 'उरी-द सर्जिकल स्ट्राइक' सुपर-डुपर हिट हुई थी, आर्मी ऑफिसर के रूप में विक्की की एक्टिंग लोगों को खूब पसंद आई थी और फिल्म का फेमस डायलॉग 'हाउ एज द जोश' लोगों की जुबान पर ऐसा चढ़ा की उनके फैंस से लेकर नेता भी कई बार सर्वजनिक मंच पर 'हाउ एज द जोश' बोलते नज़र आए।

अब खबर मिली है कि विक्की कुछ समय सेना के साथ बिताना चाहते हैं, उनकी ज़िंदगी को करीब से देखना चाहते है और इसलिए विक्की कुछ समय के लिए भारत-चीन सीमा पर भारतीय सैनिकों के साथ रहेंगे और ये बात खुद विक्की ने बताई है। उन्होंने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर इसकी जानकारी दी और लिखा कि -

अरुणाचल प्रदेश के तवांग में भारत-चीन सीमा पर 14,000 फीट की ऊंचाई पर तैनात हमारी भारतीय सेना के साथ कुछ दिन बिताने का अवसर प्राप्त हुआ है। जय जवान !!

बताया जा रहा है कि विक्की अपनी आने वाली फिल्म (फील्ड मार्शल सैम मानेकशॉ की बायोपिक) की तैयारी के सिलसिले में तवांग की यात्रा पर हैं और इसलिए वो जवानों के साथ समय बिताएगें। हालांकि वो वह कितने दिन वहां रहने वाले हैं ये बात साफ नहीं हुई है।

विक्की कौशल के वर्क फ्रंट की बात करें तो फ़िलहाल उनके खाते में दो बायोपिक फिल्म है। जिसमें पहली फिल्म भारत के वीर स्वतंत्रता सैनानी उधम सिंह की बायोपिक फिल्म है जिसका निर्देशन शूजीत सरकार कर रहे हैं और दूसरी फिल्म 1971 वॉर के हीरो सैम मानेकशॉ की बायोपिक फिल्म है, इस फिल्म के निर्देशन का जिम्मा मेघना गुलजार के हाथों में है।