उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
पीएम मोदी के साथ कंगना रनौत और प्रसून जोशी
पीएम मोदी के साथ कंगना रनौत और प्रसून जोशी|Social Media
बॉलीवुड बुलेटिन

मॉब लिंचिंग मामले पर पीएम मोदी के बचाव में कंगना रनौत, प्रसून जोशी समेत 62 हस्तियां

मॉब लिन्चिंग की वारदात पर 49 खतों का जवाब देने के लिए मैदान में उतरे 62 योद्धा

AKANKSHA MISHRA

AKANKSHA MISHRA

कुछ दिन पहले देश भर के जाने माने 49 हस्तियों ने प्रधानमंत्री मोदी को एक खत लिखा था। जिसमें मॉब लिंचिंग की घटना और 'जय श्री राम' के नारे को हथियार के तौर पर इस्तेमाल करने को लेकर देश के 49 बुद्धिजीवियों ने चिंता जाहिर की थी। माना जा रहा था कि ये खत मॉब लिंचिंग की घटनाओं पर गुस्सा जाहिर करने के लिए लिखा गया है और अब इसके तीन दिन बाद देश भर के 62 शख्सियतों ने प्रधानमंत्री मोदी को दूसरा खत लिखा है। जो पहले खत के जवाब में लिखा गया है।

इस खत को लिखने वालों में बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत, CBFC चेयरमैन प्रसून जोशी, पंडित विश्व मोहन भट्ट, फिल्म मेकर मधुर भंडारकर समेत 62 लोग शामिल है। इन लोगों ने अपने ख़त में लिखा है कि ‘मॉब लिंचिंग पर बोलने वाले लोग आदिवासियों, माओवादी या फिर अन्य मुद्दों पर चुप क्यों हो जाते हैं।’

इस खत को लिखने वाले गीतकार प्रसून जोशी कहते हैं कि 'कुछ दिन पहले पीएम मोदी को 49 लोगों ने खत लिखा था। जिसमें सिर्फ एक पक्ष की बात की गई थी। लोग जानबूझकर गलत काम प्रचलित कर रहे हैं। बेईमानी कर के सिर्फ एक झूठी कहानी को बढ़ावा दे रहे है।'

अभिनेत्री कंगना रनौत इस मामले में कहती हैं कि "कुछ लोग अपनी ताकत का गलत इस्तेमाल सिर्फ झूठ फ़ैलाने के लिए कर रहे हैं। उन्हें ये बताना जरुरी है कि देश में पहली बार कोई सरकार सही रास्ते पर जा रही है। सही काम कर रही है। हम एक बड़े बदलाव का हिस्सा बनने जा रहे हैं। देश की भलाई के लिए बहुत सारी चीजों को बदलना जरुरी है। इससे कुछ लोगों को परेशानी हो रही है। लेकिन लोगों ने अपने लिए खुद सरकार को चुना है। जो लोग जनता के फैसले की अवहेलना कर रहे हैं वो लोकतंत्र का अपमान कर रहे हैं।

आपको बता दें कि, 62 लोगों द्वारा लिखे गए इस खत में कहा गया है कि कुछ लोग भारत की छवि ख़राब करने के लिए इस तरह का काम कर रहे हैं। ये लोग अन्य मुद्दों पर चुप रहते हैं , आतंकी घटनाओं की आलोचना भी नहीं करते लेकिन किसी एक मुद्दे पर खत लिख देते हैं।