उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
तनुश्री दत्ता और नाना पाटेकर
तनुश्री दत्ता और नाना पाटेकर|Google
बॉलीवुड बुलेटिन

भारत में फेल हुआ तनुश्री दत्ता का #metoo अभियान, मुंबई पुलिस ने तनुश्री का केस बंद किया

भारत में #metooo का क्या हुआ ?

Uday Bulletin

Uday Bulletin

#Metoo अभियान तो याद होगा ही आपको। किस तरह इस एक अभियान ने हमारे देश के सभी शरीफों के चेहरे से शराफत उतार कर रख दी थी। बॉलीवुड से लेकर राजनीति तक के कई बड़े चेहरे शुरुआत में इस अभियान की भेंट चढ़ गए थे। महिलाओं ने इस अभियान को लेकर काफी बवाल मचाया था। अपने ऊपर हुए यौन शोषण को लेकर महिलाओं ने खुलकर बात की अपनी आपबीती सुनाई। लेकिन इसका नतीजा क्या हुआ ?

बॉलीवुड अभिनेत्री तन्नुश्री दत्ता पिछले साल सेप्टेम्बर महीने में विदेश से भारत आई थीं और भारत आकर अपने ऊपर 10 साल पहले हुए अत्याचार के लिए लड़ी। मीडिया के सामने आकर बताया कि कैसे बड़े-बड़े अभिनेता, प्रोडूसर बॉलीवुड में महिलाओं का यौन शोषण करते हैं। अपनी आपबीती सुनाई।

तनुश्री दत्ता ने की भारत में #metoo की शुरुआत

तनुश्री दत्ता ने मीडिया के सामने बताया कि फिल्म 'हॉर्न ओके प्लीज' की शूटिंग के दौरान किस तरह नाना पाटेकर ने सेट पर उनके साथ बदसलूकी की थी। इसके बाद तनुश्री ने नाना पाटेकर के खिलाफ मुंबई में केस दर्ज कराया। शुरुआत में #metoo से डरी पुलिस ने कार्यवाई भी की लेकिन अब इस केस से जुड़ी एक अपडेट आई है। खबर है कि मुंबई पुलिस ने नाना पाटेकर को तनुश्री द्वारा लगाए गए आरोपों से छुट्टी दे दी है।

मुंबई पुलिस के प्रवक्ता व पुलिस उपायुक्त मंजूनाथ शिंगे ने कहा, “हां, हमने अदालत के समक्ष बी-समरी रिपोर्ट दायर की है।”कहा जा रहा है कि पुलिस ने पर्याप्त सबूत नहीं मिलने के बाद यह कदम उठाया है, जिसने वस्तुत: मामले को समाप्त कर दिया है।

मुंबई पुलिस

नाना के छूटने पर क्या बोली तनुश्री

मुंबई पुलिस द्वारा नाना पाटेकर के खिलाफ केस बंद किये जाने के बाद तनुश्री दत्ता ने एक बार फिर मुंबई पुलिस और नाना पाटेकर को आड़े हाथ लिया है। उन्होंने नाना पाटेकर और पुलिस पर भ्रष्ट होने का आरोप लगाया। तनुश्री ने कहा कि भ्रष्ट्र पुलिस फोर्स और लीगल सिस्टम ने एक ऐसे इंसान को क्लीन चीट दी है जो ना जाने कब से महिलाओं का शोषण करता आ रहा है।

मुंबई पुलिस की सफाई

हालांकि मुंबई पुलिस का कहना है कि 'हमें नाना के खिलाफ कोई सबूत नहीं मिले हैं। हम किस आधार पर उनपर कार्यवाई जारी रखें। इसलिए हमने केस को बंद कर दिया।

नाना पाटेकर की रिहाई के बाद उनके वकील, “अनिकेत निकम ने कहा कि "नाना पाटेकर के खिलाफ पूरे आरोप झूठे थे। नाना पाटेकर निर्दोष हैं। पुलिस को भी कार्यवाई के दौरान कोई सबूत नहीं मिला था। अब उन्हें न्याय दिया जाएगा ”