Uday Bulletin
www.udaybulletin.com
फिल्म ‘स्लमडॉग मिलियनेयर’ के ऑस्कर जीतने के 10 वर्ष पूरे
फिल्म ‘स्लमडॉग मिलियनेयर’ के ऑस्कर जीतने के 10 वर्ष पूरे|Google 
बॉलीवुड बुलेटिन

10 साल पहले ए.आर.रहमान को मिला था ऑस्कर, इस जीत से कितनी बदल गई रहमान की जिंदगी 

फिल्म ‘स्लमडॉग मिलियनेयर’ के ऑस्कर जीतने के 10 वर्ष पूरे होने के मौके पर धारावी में एक समारोह आयोजित किया गया था, जिसमें रहमान, उनकी बेटी खतीजा, गुलजार और अनिल कपूर सहित कई लोग शामिल हुए।

Uday Bulletin

Uday Bulletin

मुंबई: ऑस्कर विजेता भारतीय संगीतकार ए.आर. रहमान की बेटी खतीजा रहमान का कहना है कि वह अपने पिता पर न केवल उनकी संगीत उपलब्धियों के कारण गर्व करती हैं बल्कि उन मूल्यों के कारण भी गर्व करती हैं, जो उन्होंने एक पिता के रूप में उन्हें सिखाए। फिल्म 'स्लमडॉग मिलियनेयर' के ऑस्कर जीतने के 10 वर्ष पूरे होने के मौके पर धारावी में एक समारोह आयोजित किया गया था, जिसमें रहमान, उनकी बेटी खतीजा, गुलजार और अनिल कपूर सहित कई लोग शामिल हुए।

इस दौरान खतीजा काफी भावुक नजर आईं और उन्होंने अपने पिता की प्रशंसा की, जिन्होंने इस फिल्म के लिए ऑस्कर जीता था।

फिल्म ‘स्लमडॉग मिलियनेयर’ के ऑस्कर जीतने के 10 वर्ष पूरे
फिल्म ‘स्लमडॉग मिलियनेयर’ के ऑस्कर जीतने के 10 वर्ष पूरे
Google

समारोह में खतीजा ने कहा, "दुनिया आपको आपके संगीत और आपके द्वारा जीते गए पुरस्कार के लिए जानती हैं लेकिन मैं आपसे हमें (रहमान के तीन बच्चों को) सिखाए मूल्यों के कारण असीम प्यार और सम्मान करती हूं। आपकी विनम्रता मेरे लिए सबसे ज्यादा मायने रखती है। ऑस्कर जीतने के बाद से आपका व्यवहार जरा भी नहीं बदला है। पिछले 10 सालों में आपमें कुछ भी नहीं बदला है सिवाए इसके कि आपने हमारे साथ समय बिताना कम कर दिया है।"

इस समारोह में जब बेटी ने अपने पिता से कुछ सलाह साझा करने के लिए कहा जो वह उनके बच्चों और सभी युवाओं को देना चाहते हों, तो इस पर रहमान बहुत भावुक हो गए।

फिल्म ‘स्लमडॉग मिलियनेयर’ के ऑस्कर जीतने के 10 वर्ष पूरे
फिल्म ‘स्लमडॉग मिलियनेयर’ के ऑस्कर जीतने के 10 वर्ष पूरे
Google

उन्होंने थोड़ा रुककर जवाब दिया, "मैं वास्तव में लोगों को सलाह नहीं देता। जब आप तीनों बड़े हो रहे थे तो मैंने यह सोचा कि मैं आपको वह सब कुछ सिखाऊं, जो मेरी माँ ने मुझे सिखाया था जब मैं बड़ा हो रहा था।"

उन्होंने कहा, "अब समय आ गया है कि आप अपने दिल की सुनें और ईश्वर से आपका मार्गदर्शन करने की प्रार्थना करें। मुझे लगता है कि आपका विवेक जीवन में आपका सबसे अच्छी तरह से मार्गदर्शन कर सकता है।"

इस समारोह में फिल्म की संगीत टीम गीतकार गुलजार, सुखविंदर सिंह, इला अरुण, महालक्ष्मी अय्यर, विजय प्रकाश भी मौजूद थे।

गुलजार ने रहमान के साथ 'जय हो' गीत के लिए ऑस्कर साझा किया था जिसने 2009 में बेस्ट ओरिजनल सॉंग का पुरस्कार जीता था। इस समारोह में धारावी संगीत परियोजा के बच्चों ने प्रस्तुति भी दी थी।

--आईएएनएस