उदय बुलेटिन
www.udaybulletin.com
 प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी|DD News
ब्लॉग

सरकार के दावों के बीच असलियत, भारत दुनिया का दूसरा सबसे गरीब देश 

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि सरकार अपनी गरीब-समर्थित योजनाओं से लोगों के जीवन में सकारात्मक बदलाव लाने में सफल रही है। 

AKANKSHA MISHRA

AKANKSHA MISHRA

बीते बुधवार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर लगातार झूठ बोलने और बीजेपी नेताओं पर झूठा आरोप लगाने का आरोप लगाया और कहा कि उनके पास कोई विकल्प नहीं बचा है क्योंकि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) सरकार अपनी गरीब-समर्थित योजनाओं से लोगों के जीवन में सकारात्मक बदलाव लाने में सफल रही है। प्रधानमंत्री ने बिना राहुल गाँधी का नाम लिए 'लोगों को बेबकूफ बनाने से दूर रहने के लिए' कहा। उन्होंने कहा कि 'लोग ऐसी बचकानी चीजें स्वीकार नहीं करते हैं और इनका मजाक बनाते हैं।'

माननीय प्रधानमंत्री जी किस गरीब-समर्थित योजनाओं की बात कर रहे है ? जिसे बीजेपी सरकार ने पूरा किया है , एक तरफ तो सरकार कहती है कि कांग्रेस उनके सभी देशहित कार्यों में बाधा उत्पन्न करती है , फिर भी हमने गरीब-समर्थित योजना बनाये और उन्हें पूरा किया। लेकिन सतत विकास लक्ष्य के आकड़े बताते है की भारत दुनिया का दूसरा सबसे गरीब देश है। भारत की 65 मिलियन आबादी अत्यधिक गरीबी की मार झेल रहा है। भारत में दुनिया की 10.3 % गरीब जनता रहती है। (टाइम्स ऑफ़ इंडिया के अनुसार)

टाइम्स ऑफ़ इंडिया में प्रकाशित सर्वे  
टाइम्स ऑफ़ इंडिया में प्रकाशित सर्वे  
TOI

प्रधानमंत्री जी ने राहुल गाँधी के बारे में ये भी कहा कि 'लोग ऐसी बचकानी चीजें स्वीकार नहीं करते हैं और इनका मजाक बनाते हैं।' दरअसल प्रधानमंत्री ने ये सब राहुल गाँधी के उस बयाना पर कहा है जो राहुल ने मध्य प्रदेश दौरे के दौरान कहा था। जिसके लिए शिवराज के बेटे ने राहुल गाँधी के उपर मानहानि का केस भी किया है। प्रधानमंत्री जी भी अपनी कई भाषणों इस तरह की गलती करते हैं। आइये नज़र डालते है उन गलतियों पर जिसे प्रधानमंत्री ने किया।

- प्रधानमंत्री जिन्हें अपना आदर्श मानते हैं और देश जिन्हें राष्ट्रीय पिता के पद से संबोधित करता है, प्रधानमंत्री ने कई बार आने भाषणों में महात्मा गाँधी को मोहनदास की जगह मोहनलाल करमचंद गाँधी कहा है।

- प्रधानमंत्री बनने से पहले एक जन सभा को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा था कि 1947 में एक रुपया एक डॉलर के बराबर हुआ करता था। पर शायद प्रधानमंत्री जी को ये मालूम नहीं था की तब रूपये की तुलना पाउंड से की जाती थी , और एक रूपये का मूल्य तीस सेंट हुआ करता था।

- दाओस में उन्होंने कह दिया था कि 600 करोड़ भारतीयों ने एक पार्टी की सरकार यानी बीजेपी सरकार को चुना, शायद प्रधानमंत्री जी को मालूम नहीं था की भारत की आबादी लगभग 133.92 करोड़ है।

- स्वतंत्रता सेनानी को हर भाषण में याद करने वाले मोदी को स्वतंत्रता सेनानी का नाम तक याद नहीं रहता, एक जन सभा के दौरान प्रधानमंत्री जी ने स्वतंत्रता सेनानी श्यामजी कृष्ण शर्मा की जगह श्याम प्रसाद मुखर्जी कह दिया था।

- प्रधानमंत्री जी ने लाल किले को लाल दरवाजा कह दिया था , मोदी जी ने कहा था की प्रधानमंत्री 15 अगस्त को लाल दरवाजे पर भाषण देते हैं। शायद उन्हें देश की धरोहरों की भी जानकारी नहीं।

- लोकसभा चुनाव प्रचार के दौरान प्रधानमंत्री जी ने 16वें लोकसभा चुनाव को 14वें लोकसभा चुनाव बोल दिया था, फिर किसी के टोकने पर उन्होंने कहा यह 16वें लोकसभा चुनाव है।

जनसभाओं में अक्सर राजनेता गलत बयानबजी करते आये हैं। राहुल गाँधी हो या नरेंद्र मोदी जनसभाओं में सबके बोल बिगड़ ही जाते हैं।

(यह लेखक के निजी विचार हैं, उदय बुलेटिन इस आलेख में दी गई जानकारी का उत्तरदायित्व नहीं लेता। )